Gardeningप्लांट नर्सरी बिजनेस से शुरू करें अपने कारोबार की शुरुआत | Profitable...

प्लांट नर्सरी बिजनेस से शुरू करें अपने कारोबार की शुरुआत | Profitable Plant Nursery Business Idea hindi

प्लांट नर्सरी बिजनेस (Profitable Plant Nursery Business Idea): इन्टरनेट के लगातार फैलते प्रभाव के कारण आज दुनिया में फैशन की समझ बढ़ती जा रही है. इसका प्रमाण वे सभी लोग हैं जो सुंदर परिवेश में अपना जीवन जीना पसंद करते हैं साथ ही अपने रहन-सहन की प्रक्रिया में प्रकृति को भी सहेजने की इच्छा रखते हैं. अमूमन मौजूदा दौर में प्रकृति से जुड़ने से आशय है कि फूलों और पौधों का अपने आस-पास होना.

आज बहुत से लोगो को अपने घरों में विभिन्न प्रकार के पौधों को लगाना और उनकी सेवा करना मतलब गार्डनिंग/बागवानी करना बहुत भाता है, और हो भी क्यों न क्योंकि प्रकृति से लगाव महसूस करना, मन को बहुत शांति प्रदान करता है. इससे स्पस्ट होता है कि बागवानी के कारोबार में तगड़ा मुनाफा बनाया जा सकता है.

प्लांट-नर्सरी-बिजनेस-Plant-Nursery-Business

और आज इस पोस्ट के माध्यम से हम आपके साथ एक ऐसे बिजनेस आईडिया “प्लांट नर्सरी बिजनेस आईडिया” के बारे में जानकारी साझा करने जा रहे हैं, जिसे आपने सुना जरूर होगा, पर हो सकता है कि आप इसकी विशालता से अनिभिज्ञ हों. खैर… आइए विस्तार से जानते हैं-

प्लांट नर्सरी बिजनेस जिसे बागवानी के नाम से भी जाना जाता है, एक कभी न रुकने वाला सदाबहार बिजनेस आईडिया है, जिसकी शुरुआत बहुत ही छोटे स्तर (न्यूनतम निवेश) से शुरू की जा सकती है. यदि आप ऐसे बिजनेस आईडिया की तलास में हैं, जिसमें विविधता होने के बावजूद कभी भी मंदी का सामना न करना पड़े तो मेरे अनुभव से प्लांट नर्सरी बिजनेस आपके लिए सर्वोत्तम सिद्ध हो सकता है.

और वैसे भी मौजूदा दौर में कई बागवान पौधों की नई किस्मों को खोजने में अधिक रुचि दिखा रहे हैं. अनोखे पौधे सामाजिक हैसियत को भी दर्शाते हैं. घर से लेकर ऑफिस की टेबल तक की साज-सज्जा की चाहत ने सजावटी पौधे बेचने को कारोबारियों के तगड़े मुनाफा बनाने की स्थिति पैदा कर दी है.

अगर आप अपनी खुद की नर्सरी शुरू करना चाहते हैं तो इस लेख को अंत तक पढ़ें. प्लांट नर्सरी बिजनेस demanding होने के साथ-साथ huge profit वाला बिजनेस है, आप प्लांट नर्सरी बिजनेस के बिजनेस प्लान को अच्छे से समझकर इसे बड़ी ही सरलता से ऑफलाइन व ऑनलाइन दोनों प्रक्रमों में चला सकते हैं और अच्छा लाभ भी कमा सकते हैं.

Table of Content

प्लांट नर्सरी बिजनेस शुरू करने के लिए 08 टिप्स-

  1. प्लांट नर्सरी बिजनेस शुरू करने के लिए सबसे पहली और महत्वपूर्ण बात एक उपयुक्त स्थान का चुनाव करना होता है. स्थान पर उचित जल प्रबंधन, निकासी और सिंचाई की व्यवस्था होनी चाहिए.
  2. इसके बाद यह तय करना होता है कि आप प्लांट नर्सरी में किस प्रकार के पौधे रखना, उगाना व बेचना चाहते हैं. मसलन-फलों, फूलों के पौधे, सब्जियां या जड़ी-बूटियां आदि.
  3. आपको विश्वसनीय स्रोत से गुणवत्तापूर्ण बीज और पौध खरीद करने पर ध्यान देने की आवश्यकता है.
  4. नर्सरी तैयार करने के लिए आपको नर्सरी बेड/ नर्सरी क्यारी सही अनुपात व माप में तैयार करने की आवश्यकता है, जिससे पौधों की जड़ों के लिए पर्याप्त जगह मिल सके.
  5. पौधों को नियमित रूप से पानी देने पर ध्यान देने की आवश्यकता है, जिससे पौधे को हरा-भरा रखा जा सके.
  6. खाद (प्राकृतिक खाद/वर्मी कम्पोस्ट) व कीट प्रबंधन (प्राकृतिक कीट नाशक) पर ध्यान देने की आवश्यकता है. इससे पौधों को स्वस्थ और मजबूत बनने में मदद मिलेगी.
  7. पौधों की कटिंग जैसे- बंजी, 3G, 4G व 5G आदि में महारत हांसिल करने की आवश्यकता है, प्रभावी कटिंग से पौधों से पौधे बनाये जाते हैं साथ ही कटिंग से ही पौधे को बुशी भी बनाया जाता है, जो आसानी से बजार में बेचे जाते हैं.
  8. प्लांट नर्सरी बिजनेस को बड़े स्तर पर विस्तारित करने के लिए उपरोक्त प्रक्रिया को दोहराने की आवश्यकता होती है.

प्लांट नर्सरी बिजनेस के लिए आवश्यक घटक-

प्लांट नर्सरी जैसे बिजनेस से तगड़ा मुनाफा कमाने के लिए आप शुरूआती स्तर पर अधिक कर्मचारियों को रोजगार देने की बजाय अपने पूर्ण प्रबंधन (वैराइटी) पर फोकस करें. जिसकी प्रक्रिया बेहद सरल है और प्लांट नर्सरी बिजनेस को शुरू करने के लिए ज्यादा कच्चे माल या महंगी मशीनरी की आवश्यकता नहीं होती.

प्लांट नर्सरी बिजनेस के लिए भूमि-

किसी भी कृषि आधारित बिजनेस को सेटअप करने के लिए प्राथमिक चरण भूमि की उपलब्धता होती है. शुरूआती स्तर पर आप किराए पर जमीन लेकर भी बिजनेस की शुरुआत की जा सकती है.

प्लांट नर्सरी में भूमि को खेतिहर बनाने वाले मूल गुण मौजूद अथवा संतुलित करने की आवश्यकता है. मसलन- मिट्टी की उर्वरता, मिटटी में मौजूद पोषक तत्व, नमी की मात्रा और विषैले तत्व की मात्रा. ये सभी कारक पौधे की वृद्धि को तय करते हैं, प्लांट नर्सरी बिजनेस प्रक्रिया शुरू करने के लिए चयनित भूमि की विशेष भूमिका होती है.

किचन गार्डनिंग तहत गमले व ग्रो बैग आदि की मिटटी तैयार करने के लिए कई घटकों को उपयोग में लिया जाता है. मसलन- कोकोपीट, नीम खली, सरसों खली, एप्सम साल्ट, धान खल व अन्य खाद तथा प्राकृतिक कीटनाशक आदि.

मोरंग/रेत-

प्लांट नर्सरी बिजनेस के तहत मोरंग/रेत उपयोग में लिया जाने वाला सबसे अहम् घटक है. पौधों की ग्रोथ व अंकुरण के लिए नदी से निकाली गई लाल रेत अहम् भूमिका में रहती है.

प्लांट-नर्सरी-बिजनेस-Profitable-Plant-Nursery-Business

प्लांट नर्सरी बिजनेस में सरल उपकरण-

प्लांट नर्सरी बिजनेस में कम और सीमित औजारों का उपयोग किया जाता है. पौधों की काट-छाट व तनों को काटने तथा मिटटी की गुड़ाई के लिए सरल उपकरणों की ही आवश्यकता होती है. पूरी प्रक्रिया के किसी अन्य चरण में उपकरणों की कोई आवश्यकता नहीं है.

पौधे लगाने के चरण-

  • सबसे पहले, जैसा कि पहले ही उल्लेख किया गया है, आवश्यक तत्वों (नमी सामग्री) के साथ मिट्टी की क्यारी तैयार करें. यदि एक से अधिक प्रजातियाँ हैं तो इसे संकीर्ण रेखाओं में विभाजित करें.
  • मिट्टी को 2 फीट गहराई पर खोदें, जो रोपण के लिए तैयार तनों की ऊंचाई है. इसे 2 फीट गहराई तक खोदने के बाद इसकी चौथाई ऊंचाई रेत से भर दें.
  • अब, तनों को प्रत्येक के बीच उचित दूरी के साथ मिट्टी में लगाया जाता है. स्थान फैलाव महत्वपूर्ण है क्योंकि कम फैलाव के कारन पौधे के विकास दर बाधित हो सकती है.
  • रोपने के बाद ऊपर से मिट्टी से ढक दें. साथ ही मिट्टी को अच्छी तरह से थपथपाकर समतल करें.
  • इसके बाद पौधों को नियमित अंतराल पर पानी देने की आवश्यकता होती है.

इसे भी पढ़ें- Biofloc Fish Farming Business

खाद का प्रयोग करें या नहीं?

पौधे में स्वाभाविक गुण होता है कि वह मिट्टी से पानी और पोषक तत्व निकाल सके. आमतौर पर पौधे 3/4 भाग मिट्टी से अपना भोजन सूक्ष्म पोषक तत्वों के रूप में प्राप्त करते हैं.

प्लांट नर्सरी बिजनेस के तहत इन सब बातों का ज्ञान होना जरूरी है कि खेती में खाद का प्रयोग अनिवार्य शर्त नहीं है. उर्वरक सिर्फ विकास की प्रक्रिया को गति देने के लिए हैं.

साथ ही, खाद/उर्वरकों के प्रयोग से आपके पौधे पर बहुत अधिक प्रभाव नहीं पड़ेगा. यदि आप तेजी से विकास देखना चाहते हैं, तो आप किसी भी उर्वरक का उपयोग करना चुन सकते हैं.

प्लांट नर्सरी बिजनेस का दायरा-

वर्तमान जीवन शैली ही प्लांट नर्सरी बिजनेस की कुंजी का अहम् स्रोत है. जब तक फैशन स्टेटमेंट मौजूद रहंगे हैं, पौधों की आवश्यकता भी बनी रहेगी.

लोगों के नए व इनोवेटिव विचारों के कारण प्लांट नर्सरी बिजनेस का दायरा दिन-ब-दिन व्यापक और बढ़ता जा रहा है. पौधों की बिक्री बढ़ाने के लिए व्यावसायिक क्षेत्रों/फर्मों का दायरा भी बढ़ रहा है. मसलन-

गुलदस्ते की दुकानें-

गुलदस्ते अब अकेले फूलों की कहानियां नहीं हैं. फूलों के साथ सामान्य सजावट के लिए मौजूदा दौर में बोंजाई, पाम व अन्य सेकुलेंट प्लांट भी आकर्षण प्राप्त कर रहे हैं. जिनकी कीमतें भी उपभोक्ता के अनुकूल होती हैं.

जड़ी-बूटी/औषधीय नर्सरी-

महामारियों के इस बदलते दौर में औषधीय पौधे व जड़ी-बूटियों की महत्ता दिन-ब-दिन बढ़ती ही जा रही है और बढ़े भी क्यों न क्योंकि किसी भी रोग का निवारण करने के लिए जिन दवाओं का उपयोग किया जाता है, वे सभी दवाएं व औषधियां किसी न किसी पौधे व जड़ी-बूटी की सहायता से तैयार की जाती हैं.

यदि आप प्लांट नर्सरी बिजनेस के तहत एक विशेष क्षेत्र में अपना भविष्य बनाना और तगड़ा मुनाफा कमाना चाहते हैं तो जड़ी-बूटी/औषधीय नर्सरी आपके लिए सबसे उपयुक्त विकल्प साबित हो सकता है.

प्राकृतिक फलों व सब्जियों की नर्सरी-

कोरोना काल के बाद से आर्गेनिक फलों व सब्जियों की मांग में तीव्रता से वृद्धि दर्ज की गई है. ऐसा इसलिए क्योंकि आयुर्वेद के अनुसार प्राकृतिक रूप से तैयार फलों व सब्जियों का सेवन करने से हम हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को सुदृण बना सकते हैं.

आप जानते ही हैं कि मौजूदा केमिकल युग है. फसलों की अच्छी पैदावार करने के लिए केमिकल युक्त फर्टिलाइजर व उर्वरकों का उपयोग किया जाता है. ऐसे में आर्गेनिक/प्राकृतिक फलों व सब्जियों की नर्सरी स्थापित कर उत्पादन करना इच्छुक किसान/उद्यमी के लिए एक ठोस मुनाफे का विकल्प साबित हो सकता है.

ग्राहकों को कैसे आकर्षित करें?

  • सामान्यत: प्लांट नर्सरी बिजनेस के तहत मुख्य रूप से पौधों को सजावटी उद्देश्यों के लिए ही लगाया और बेचने का प्रयास किया जाता हैं.
  • बाजार में अपने उत्पाद को लोकप्रिय बनाने के लिए प्रत्येक पौधे का प्रस्तुतिकरण विभिन्न रंग के रिबन व रंगीन गमलों के माध्यम से किया जाता है है, जिससे पौधे देखने में सुन्दर और ग्राहक को अपनी और आकर्षित कर सकें.
  • पौधों की ऑनलाइन बिक्री भी एक बेहतरीन आइडिया है. ऑनलाइन बिक्री के लिए प्लांट की आकर्षक तस्वीरों से बने विज्ञापन बड़े प्रभावी होते है.
  • इन सबके अलावा स्थानीय ग्राहक जैसे-उत्सव, समारोह, पार्टी आदि आयोजक भी पौधों की विविधता के कारण आपकी नर्सरी की ओर स्वत: आकर्षित होते हैं, जिनसे नियमित अनुबंध करने पर आप भारी मुनाफा कमा सकते है.

ऑनलाइन प्लांट नर्सरी बिजनेस शुरू करने के टिप्स-

आप एक क्लिक इंस्टॉल ई-कॉमर्स स्टोर की मदद से अपने उत्पादों को आसानी से ऑनलाइन सूचीबद्ध कर सकते हैं. आप वर्डप्रेस जैसे लोकप्रिय प्लेटफॉर्म में अपनी वेबसाइट बना सकते हैं. अपने बिजनेस के लिए एक डोमेन नाम पंजीकृत करें और अपने लिए एक सुंदर वेबसाइट बनाने के लिए पेशेवर को नियुक्त करें.

ऑनलाइन विज्ञापन की मदद से आप अधिक दर्शकों तक पहुंचने में सक्षम होंगे. सोशल मीडिया जैसे इंस्टाग्राम, whatsapp और फेसबुक पर बिजनेस प्रोफाइल बनाएं. Followers को प्राप्त करें और सीधे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के माध्यम से बेचना शुरू करें.

आप सोशल मीडिया पर अत्यधिक लक्षित ऑडियंस (Target Customers) के लिए विज्ञापन भी चला सकते हैं, इससे आपको कुछ ही समय में अपने लक्षित दर्शकों तक पहुंचने में मदद मिलेगी.

प्लांट नर्सरी बिजनेस शुरू करने के फायदे क्या हैं?

प्लांट नर्सरी बिजनेस शुरू करने के कई फायदे हैं, जिनमें पौधों की गुणवत्ता को नियंत्रित करने की क्षमता, एक निश्चित प्रकार के पौधे में विशेषज्ञता हासिल करने का अवसर और एक विशिष्ट बाजार के लिए पौधे उपलब्ध कराने की क्षमता शामिल है.

पौध नर्सरी में सबसे आम कीट और रोग कौन से हैं?

पौधों की नर्सरी में सबसे आम कीट और रोग एफिड्स, व्हाइट-फ़्लाइज़, स्पाइडर-माइट्स, स्नेल, कीड़े और मिलीबग आदि शामिल हैं. ये कीट और रोग पौधों को व्यापक नुकसान पहुंचा सकते हैं, और इन्हें नियंत्रित करना मुश्किल हो सकता है.

प्लांट नर्सरी बिजनेस में लाभ-

आज के समय में प्लांट नर्सरी बिजनेस अथवा नर्सरी का व्यापार बहुत ही फायदेमंद है, क्योंकि लोग अपने घर या ऑफिस को सुंदर दिखाने के लिए पौधों की खरीद-फरोख्त बहुत अधिक करते हैं. छोटे स्तर पर प्लांट नर्सरी बिजनेस शुरू करने और पौधों की स्थानीय बाजार में जाकर बेचने पर भी आप आराम से लगभग 25 से 50 हजार रुपए का लाभ कमा सकते हैं.

अच्छी तरह से देखभाल किया हुआ पौधा अच्छा मुनाफा देता है. इसके अलावा आपका मुनाफा भूमि की गुणवत्ता पर भी निर्भर करता है. प्लांट नर्सरी बिजनेस में छोटा क्षेत्र भी अधिक आय अर्जित कर सकता है. इसके लिए आपको पौधे की ग्रोथ का ध्यान समझदारी से रखना आवश्यक है.

प्लांट नर्सरी बिजनेस में मुनाफा बनाने के लिए आप लीग से थोडा हटकर सोचें और अपने उत्पादों के बिक्री के अवसरों की तलाश करें.

पूछे जाने वाले प्रश्न

नर्सरी के लिए सबसे अच्छे पौधे कौन से हैं?

प्लांट नर्सरी बिजनेस के तहत बड़ी संख्या में बेचे जाने वाले सबसे लोकप्रिय पौधों में बारहमासी पौधे, बेलें, झाड़ियाँ और पेड़ शामिल हैं.

प्लांट नर्सरी की मार्केटिंग करने के सर्वोत्तम तरीके क्या हैं?

प्लांट नर्सरी बिजनेस की मार्केटिंग करने का सबसे अच्छा तरीका एक ऑनलाइन सोशल मीडिया का उपयोग करना है.

नर्सरी में पौधों को स्वस्थ रखने के सर्वोत्तम उपाय क्या हैं?

नर्सरी में पौधों को स्वस्थ रखने के कुछ तरीके यह सुनिश्चित करना है कि उन्हें सही मात्रा में पानी, धूप और पोषक तत्व मिल रहे हैं.

अंत में-

भारत की कृषि में संभावनाओं की कोई कमी नहीं है, हालांकि आज किसानों में आधुनिक कृषि के प्रति जागरूकता पहले की अपेक्षा कुछ हद तक बढ़ी है लेकिन पर्याप्त जानकारी न होने के कारण कई किसान जोखिम के भय से आधुनिक खेती को अपनाने से कतराते है.

खैर… आने वाला समय कुछ ऐसा होने वाला है, जहां यदि आप अपनी कृषि योग्यताओं में इजाफा नहीं करते हैं तो आपको अपनी कृषि से मुनाफा नाम मात्र ही मिल सकेगा, जिससे हताशा के अलावा और कुछ हांसिल नहीं होने वाला.

हमारा उद्देश्य सभी इच्छुक उद्यमियों, किसानों और खेती/कृषि प्रेमियों को बेहतर से बेहतर जानकारी प्रदान करना है, जिससे वे अपनी कृषि योग्यताओं को बेहतर से बेहतरीन बना सके और कृषि आधारित व्यवसाय को अपनाकर अच्छा मुनाफा/लाभ भी उठा सकें.

आशा है आपको इस लेख “प्लांट नर्सरी बिजनेस कैसे शुरू करें (most profitable agriculture business idea) से खेती/कृषि आधारित व्यवसायों के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी जरूर मिली होगी, साथ ही… यदि कुछ छूट गया हो या कुछ पूछना चाहते हों तो कृपया comment box में जरूर लिखें. तब तक के लिए-

शुभकामनाएं आपके कामयाब और सफल खेती के लिए

 धन्यवाद!

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular