Business Ideasबिजनेस नाम पर विचार के मुख्य घटक | Components Consider in Business...

बिजनेस नाम पर विचार के मुख्य घटक | Components Consider in Business Name

बिजनेस नाम पर विचार: भारत में अधिकतर लोग/उद्यमी अपने उद्यम/बिजनेस के नाम चुनाव करते समय परंपराओं का अनुसरण करते हैं, बिजनेस नाम! किसी भी बिजनेस के भविष्य और उसकी सफलता की नींव का काम करता है. इसलिए यह जरूरी है कि हर बिजनेस की नींव सही पढ़े.

यदि नींव सही होगी तो “दिन दुगुना रात चौगुना” बढ़ता जाता है. ऐसे में यह जरूरी है कि एक उद्यमी को अपने बिजनेस नाम (Trade Name) का चुनाव करने के प्रति सजगता और गंभीर रहना चाहिए. कोई भी नाम व्यक्ति विशेष, स्थान, बिजनेस, उत्पाद या सेवा की पहचान और पहचानकर्ता होता है.

बिजनेस-नाम-पर-विचार-के-मुख्य-घटक-Components-Consider-in-Business-Name

यह किसी चीज की पहचान और विभिन्नता को दर्शाता है और उसे अन्य चीजों से अलग करता है. बिजनेस नाम का महत्व जानने के लिए बिन्दुओं का अनुसरण करें-

  • ब्रांडिंग- एक उत्पाद या सेवा का नाम उसके ब्रांड और विश्वास योग्यता को प्रकट करता है. यह उपभोक्ताओं के द्वारा उसे पहचान में मदद करता है और उन्हें प्रोडक्ट अथवा सर्विस बिजनेस के लिए प्रभावित करता है.
  • पहचान- व्यक्तिगत नाम एक व्यक्ति की पहचान बनाता है. यह उसकी व्यक्तित्व, पेशेवर योग्यता के साथ उसकी अन्य विशेषताओं को भी प्रकट करता है.
  • व्यवसायिक पहचान- किसी भी कंपनी या बिजनेस का नाम उसकी व्यवसायिक पहचान बनाता है, जिससे उद्यमी और उसके बिजनेस को बाजार में पहचान मिलती है.
  • मार्केटिंग और प्रचार- एक प्रभावी अच्छा नाम मार्केटिंग और प्रचार के लिए बेहद महत्वपूर्ण होता है. यह उपभोक्ताओं के ध्यान अपनी ओर खीचने के साथ उन्हें उत्पाद अथवा सेवा का उपभोग करने के प्रति आकर्षित भी करता है.
  • कानूनी पहचान- किसी व्यक्ति अथवा व्यवसाय का नाम उसकी कानूनी पहचान होता है, जिससे उसे कानूनी संदर्भों में पहचाना जाता है.

संक्षेप में, नाम एक व्यक्ति, वस्तु या सेवा की पहचान और प्रतिष्ठा को दर्शाता है और उसे उसके परिवार से अलग बनाता है.

बिजनेस नाम विचार के घटक

बिजनेस नाम (trade name) चुनते समय निम्नलिखित घटकों को ध्यान में रखना महत्वपूर्ण है, मसलन-

  1. रिसर्च (नाम की उपलब्धता)- अपने उद्यम के लिए नाम की उपलब्धता संबंधित प्रभावी शब्दों पर विचार व गहन रिसर्च करना प्राथमिक चरण होता है, जिस नाम का पंजीकरण किया जाना है.
  2. संवेदनशीलता- नाम को संवेदनशील, स्मरणीय (तुरंत याद हो जाने वाला) और आकर्षक बनाने का प्रयास करना प्राथमिक चरण में से ही है.
  3. व्यक्तिगतता- अपने व्यक्तिगत लक्ष्य, मूल्यों और विचारों को प्रकट करने वाला नाम चुनें.
  4. उद्देश्य और स्थिति- आपके व्यवसाय के उद्देश्यों और स्थिति अनुरूप सुसंगत नाम का चयन करना चाहिए.
  5. बाजार का परीक्षण- चुने गए अपने बिजनेस नाम का परीक्षण अपने लक्षित बाजार तथा टारगेट ग्राहकों के साथ साझा करना साथ ही प्राप्त फीडबैक की प्रतिक्रिया का मूल्यांकन करना चाहिए.
  6. कानूनी मामले- यह सुनिश्चित करना अनिवार्य है कि आप द्वारा चुना गया नाम किसी अन्य व्यवसाय के नाम के साथ संदर्भित तो नहीं है यदि है तो बिजनेस नाम चयन/उपलब्धता की प्रक्रिया की समीक्षा शुरू से करनी जरूरी है अन्यथा कॉपीराइट कानून के तहत कारगर व मानहानि जैसे कानूनी मामले झेलने पड़ सकते हैं.

सटीक बिजनेस नाम कैसे रखा जाए?

बिजनेस नाम रखते समय कुछ महत्वपूर्ण बातों व तथ्यों पर गहनता से विचार किया जाना जरूरी होता है, जैसे- वांछित उत्पाद अथवा सेवाओं की प्रकृति, बिजनेस का लक्ष्य तथा लक्षित उपभोक्ता (टारगेट अडियंस) को ध्यान में रखना आदि.
 
इसके साथ ही नाम को जितना हो सके सरल, यादगार और संरचनात्मक (creative) बनाने का प्रयास करें. इसके अलावा नाम से सम्बंधित कानूनी मामलों जैसे- कॉपीराइट कानून के साथ कमर्शियल प्रचार के घटकों को भी ध्यान में रखना जरूरी होता है, ताकि कोई दूसरा उस नाम का उपयोग न कर सके.

बिजनेस नाम का महत्व और उपयोगिता 

किसी भी बिजनेस नाम का चुनाव करना बहुत महत्वपूर्ण होता है, क्योंकि यह नाम ही आपके व्यवसाय, उत्पाद, सेवाओं के अलावा आपके ब्रांड को पहचान कराता है और आपके ब्रांड को अन्य लोगों/उपभोक्ताओं के साथ जोड़ता है. बिजनेस नाम के महत्व और उपयोगिता के बारे में कुछ अहम बिंदुओं का उल्लेख नीचे किया गया है-

  1. पहचान और ब्रांडिंग- एक उत्कृष्ट नाम आपके व्यवसाय को अन्य विभागों से अलग करता है और उसे ब्रांडिंग और प्रचार में सहायक होता है.
  2. व्यक्तित्व का प्रतिनिधित्व- एक अच्छा नाम आपके व्यक्तित्व को प्रतिनिधित करता है और आपके व्यवसाय के मूल्यों और धारणाओं को संवेदनशील रूप से प्रकट करता है.
  3. यादगारता- एक स्पष्ट और यादगार नाम आपके व्यवसाय को लोगों की स्मृति में बनाए रखने में मदद करता है.
  4. मार्केटिंग- एक प्रभावी नाम मार्केटिंग के लिए एक महत्वपूर्ण उपकरण होता है, क्योंकि यह आपके उत्पादों या सेवाओं को अलग और यादगार बनाता है.
  5. व्यावसायिक एकता- एक समान नाम के तहत संगठन की एकता और परिचय को बढ़ावा मिलता है, जिससे उपभोक्ताओं को भरोसा मिलता है.
  6. कानूनी संरक्षण- एक अच्छा नाम कानूनी संरक्षण प्राप्त करने में मदद करता है, जिससे आप अपने व्यवसाय को नाम पंजीकृत कर सकते हैं और इसके उपयोग को अन्यों से रोक सकते हैं.

एक अच्छा नाम आपके व्यवसाय के लिए एक पहचान बना सकता है और आपके व्यवसाय की वृद्धि और सफलता में मदद कर सकता है.

सरल बनाम कठिन नाम 

“सरल” बनाम “कठिन” नाम का चयन व्यक्तिगत पसंद के आधार पर किया जा सकता है, और यह कई प्रकार से प्रभावित हो सकता है. यहाँ कुछ बिंदु सुझाये गए हैं जिनपर विचार करना चाहिए-

  1. व्यक्तिगत पसंद- यदि व्यक्ति/उद्यमी को सरलता और सहजता पसंद है, तो “सरल” नाम उनके लिए उपयुक्त हो सकता है. वह एक स्थिर और सुगम जीवन की प्राथमिकता में रख सकते हैं.
  2. प्रेरणा/प्रोत्साहन- “कठिन” नाम की उपयोगिता तब साबित हो सकती है जब व्यक्ति को अपेक्षित प्रकार की चुनौतियों का सामना करना हो. यह उन्हें परिश्रम, साहस, और संघर्ष की भावना प्रदान कर सकता है.
  3. परिस्थितियों का महत्व- यदि बिजनेस या कार्य के परिस्थितियाँ सरल या कठिन हैं, तो उसी प्रकार का नाम चयन किया जा सकता है. इससे व्यक्ति के उत्पादकता और प्रदर्शन के साथ मेल खाता है.
  4. परिवर्तन का इशारा- “कठिन” नाम की उपयोगिता तब भी हो सकती है जब व्यक्ति को अपने जीवन में परिवर्तन और विकास की आवश्यकता हो. यह उन्हें नए संदर्भों में अनुकूल बनने के लिए प्रेरित कर सकता है.

नाम का चयन व्यक्ति की स्थिति, विशेषताओं, और आवश्यकताओं के आधार पर किया जाता है, इसलिए यह व्यक्तिगत पसंद और उत्तेजना के संबंध में अलग हो सकता है.

क्या गलत अथवा कठिन नाम बिजनेस में संघर्ष बढ़ा सकता है?

हाँ, गलत या कठिन नाम बिजनेस में संघर्ष बढ़ाने के साथ-साथ कई जोखिम भी बढ़ा सकता है. मसलन-
 
अस्पष्टता-
अगर बिजनेस का नाम अस्पष्ट, उलझनकारी, कठिन या सहज नहीं होता है, तो यह उपयोगकर्ताओं/संभावित ग्राहकों के लिए समझना और याद रख पाना मुश्किल हो सकता है. अस्पष्ट नाम उपयोगकर्ताओं/संभावित ग्राहकों के जहन में भ्रांतियों और संदेहों को बढ़ा सकता है.
 
सामानांतरता व विवादित-
यदि आपका चुना हुआ बिजनेस नाम अन्य व्यवसायों के नामों से मिलता जुलता है, तो यह आपके ब्रांड की बाजार में स्थापना और पकड़ बनाने में समस्या पैदा कर सकता है. साथ ही यदि चुने जाने वाले नाम में संभावित व्यक्ति या समुदाय में विवाद पैदा होने की आशंका महसूस हो तो उसे भी त्यागना भी बेहतर होता है.
 
प्रभाव विहीन अथवा अनुकूलता की कमी-
यदि आप द्वारा चुना गया बिजनेस नाम उपयोगकर्ताओं/संभावित ग्राहकों की मानसिकता में किसी अप्रिय भावनाओं को उत्पन्न करता है, जिससे उपयोगकर्ताओं का विश्वास टूट सकता है, तो ऐसे नाम का कभी भी नहीं चुनाव नहीं करना चाहिए.
 
इन सभी कारणों से सावधानीपूर्वक बिजनेस नाम का चयन करना महत्वपूर्ण है ताकि आपके व्यवसाय को सफलता की ओर बढ़ावा मिल सके.

बिजनेस का नामकरण करने का पैमाना क्या होता है?

बिजनेस नाम करण करते समय, कुछ महत्वपूर्ण पैमाने को ध्यान में रखना जरूरी होता है. मसलन-
 
नाम की सार्थकता- नाम को चयन करते समय, यह महत्वपूर्ण है कि वह आपके व्यवसाय की सार्थकता और मिशन को संघटित करें.

अद्वितीयता (uniqueness)- आपके व्यवसाय का नाम अद्वितीय/यूनीक होना जरूरी है ताकि वह बाजार में अपनी पहचान बना सके और उपभोक्ताओं/ग्राहकों को आकर्षक लगे.

स्मृतिमूलकता (memory originality)- एक अच्छा व्यवसाय नाम याद रहने में आसान होता है और लोगों की याद में बना रहता है, जो ब्रांडिंग के लिए महत्वपूर्ण है.

मार्केटिंग और ब्रांडिंग- नाम को चयन करते समय यह ध्यान में रखना चाहिए कि वह मार्केटिंग और ब्रांडिंग के लिए अनुकूल हो.

कानूनी प्रतिबद्धता (legal commitment)- व्यवसाय का नाम किसी अन्य व्यक्ति या कंपनी के नाम से भिन्न होना चाहिए, और यह कानूनी प्रतिबद्धताओं के अनुसार होना चाहिए.

उपयोगिता- नाम को चयन करते समय यह भी महत्वपूर्ण है कि वह आपके व्यवसाय के उत्पादों या सेवाओं को प्रकट करें और उपयोग में आसान हों.
 
ये पैमाने व्यक्तिगत और व्यवसाय की आवश्यकताओं के आधार पर भिन्न-भिन्न हो सकते हैं, और नाम के चयन में महत्वपूर्ण रोल निभाते हैं.

बिजनेस नाम का पंजीकरण कैसे करते हैं?

बिजनेस नाम का पंजीकरण करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें-

नाम का अनुसंधान- सबसे पहले, उन नामों पर रिसर्च करें जो पहले से ही पंजीकृत न हों और जो आपके व्यवसाय के लिए उपयुक्त हो सकते हों.

अधिकारिक पोर्टल पर व्यवसाय पंजीकरण- स्थानीय/सरकार द्वारा विकसित व्यवसाय/उद्यमी पंजीकरण पोर्टल (MSME) या राष्ट्रीय उद्योग निर्धारण और पंजीकरण (National Industrial Classification and Registration) पर विजिट करें.

फॉर्म भरें- अधिकारिक पोर्टल पर नाम के पंजीकरण के लिए आवश्यक फॉर्म भरें. इसमें आपके व्यवसाय/उद्यम के बारे में विवरण और नाम का उपयोग का उद्देश्य आदि शामिल हो सकता है. फार्म भरने के साथ ही आवश्यक दस्तावेजों को प्रस्तुत करना अनिवार्य होता है, जैसे- उद्यमी का पहचान प्रमाण पत्र, व्यवसाय की श्रेणी और करदाता पहचान नंबर (PAN) कार्ड आदि.

पंजीकरण शुल्क का भुगतान- अधिकारिक शुल्क का भुगतान करें, जो व्यवसाय और स्थिति के आधार पर भिन्न हो सकती है.

पंजीकरण प्रमाण पत्र प्राप्त करना- आपके द्वारा प्रस्तुत किए गए सभी दस्तावेजों और शुल्क भुगतान के बाद, आपको अपने व्यवसाय नाम का पंजीकरण प्रमाण पत्र निर्धारित प्रक्रिया के बाद प्राप्त हो जाएगा.
 
ध्यान दें कि पंजीकरण प्रक्रिया देश, राज्य व स्थानीय नियमों और विनियमों के अनुसार भिन्न हो सकती है. इसलिए सरकारी पोर्टल पर दिए गए निर्देशों का कड़ाई से पालन करना और सभी आवश्यक दस्तावेजों को सही तरीके से प्रस्तुत करना अनिवार्य होता है.

नाम का मनोविज्ञान 

जग में मात्र दो ही ऐसे घटक हैं जिसकी ख्याति मरने के बाद भी बनी रहती है, एक है “नाम” और दूसरा है “काम”. भारत की सनातन संस्कृति में नाम की महिमा पर गहरा जोर दिया गया है, क्योंकि पहली पहचान नाम से ही मिलती है. नाम के मनोविज्ञान को समझने के लिए नीचे कुछ महत्वपूर्ण आधारभूत सिद्धांतों का उल्लेख किया गया है-

  1. प्रतिनिधित्व- कोई भी नाम उसके नक्श/व्यक्तित्व व स्वभाव का प्रतिनिधित्व करता है. साथ ही यह नाम ही है जो एक व्यक्ति, उद्यमी, स्थान या व्यवसाय की पहचान प्रदान करता है.
  2. प्रेरणा- कुछ नाम लोगों को उत्तेजित करने की क्षमता रखते हैं, जबकि कुछ नाम सुख और कुछ शांति का अनुभव प्राप्त करने की प्रेरणा प्रदान कराते हैं.
  3. संवेदनशीलता- कुछ नाम अधिक संवेदनशीलता या गहराई का अनुभव कराते हैं, जबकि कुछ नाम बहुत ही सीधे और साधारण होते हैं.
  4. समान्यीकरण- अक्सर व्यक्ति अपने नाम के माध्यम से खुद को समान्यीकृत करता है और अपने नाम स्वभाव के साथ जुड़ता चला जाता है.

नाम का मनोविज्ञान किसी भी व्यक्ति को व्यक्तिगत और सामाजिक रूप से प्रकट करने का एक महत्वपूर्ण माध्यम बन सकता है.

बिजनेस नाम चुनाव में ज्योतिष की आवश्यकता 

वैज्ञानिक दृष्टिकोण, ज्योतिष शास्त्र द्वारा सुझाये गए प्रत्येक सुझाव की विश्वसनीयता पर संदिग्धता प्रकट करता है, ऐसा इसलिए क्योंकि विज्ञान कभी भी सम्भावना पर नहीं चलता है, जबकि ज्योतिष गणना के साथ मनोविज्ञान पर भी काम करता है, इसीलिए सनातन संस्कृति आज के दौर में सफल और कारगर साबित हो रही है.

आज किसी भी तरह के नाम के चुनाव में ज्योतिष शास्त्र का उपयोग व्यक्तिगत विशेषताओं और धार्मिक विश्वासों के आधार पर लाभ कमाने की दृष्टी से किया जाता है. कुछ लोग ज्योतिष को नाम के चयन में महत्वपूर्ण मानते हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि नाम व्यक्ति के भविष्य और समृद्धि को प्रभावित कर सकता है. उनके अनुसार, कुछ नाम धन, स्वास्थ्य, संबंधों, और करियर के लिए शुभ होते हैं, जबकि कुछ नाम अशुभ माने जाते हैं.

यह जरूरी है कि किसी का भी नाम का चयन गहनता और समझदारी से किया जाना चाहिए जिससे उस व्यक्ति को अपने उद्यम के लक्ष्यों, उत्पादों या सेवाओं के साथ तालमेल बैठाने में समस्या न आये और लाभ मिल सके.

नामकरण में numerology ज्योतिष का उपयोग क्यों जरूरी होता है?

नामकरण में न्यूमरोलॉजी (अंक शास्त्र) और ज्योतिष का उपयोग आज कई लोगों और उनके बिजनेस के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है, जो अपने जीवन में कुछ अनोखा कर गुजरने और खुद की अलग पहचान बनाने के लिए तत्पर हैं.

इसे कुछ बिन्दुओं से समझा जा सकता है, जिनके लिए नामकरण में न्यूमरोलॉजी और ज्योतिष का उपयोग किया जाता है-
 
धार्मिक आधार- कुछ लोग धार्मिक या आध्यात्मिक आधार पर अपना अथवा अपने बिजनेस का नामकरण करते हैं. उन्हें लगता है कि नाम के अंक और ज्योतिषीय संख्याओं का उपयोग उनके जीवन में शुभता और समृद्धि को बढ़ावा देता है.

संतानों के लिए- कुछ लोग अपने बच्चों के लिए उनके जन्मकुंडली और जन्म तिथि के अनुसार नामकरण करते हैं, क्योंकि उन्हें बच्चों के प्रभावी भविष्य के लिए शुभ और सकारात्मक परिणाम पाने की अपेक्षा होती हैं.

व्यक्तिगत स्तर पर समृद्धि- कुछ लोगों को लगता है कि न्यूमरोलॉजी और ज्योतिष संख्याओं का उपयोग करके उनके जीवन में समृद्धि, स्वास्थ्य, और सुख को बढ़ावा दिया जा सकता है.

सांस्कृतिक परंपरा- कुछ संस्कृतियों में, नामकरण का एक विशेष महत्व होता है, जिस कारण न्यूमरोलॉजी और ज्योतिष के विचारों का पालन किया जाता है ताकि व्यक्ति का जीवन सफलतापूर्वक चले.

बिजनेस नाम में नामांक 5 की उपयोगिता 

न्यूमरोलॉजी (अंक शास्त्र) में 5 नंबर का अंक बुध ग्रह का अंक माना जाता है, बुध ग्रह- बुद्धि, बिजनेस, वाणी और चतुरता का कारक माना जाता है. बिजनेस नाम में “नामांक 5” की उपयोगिता कई तरह से देखने कि मिलती है, मसलन-

व्यक्तिगत और पेशेवर उपयोग-

“नामांक 5” का उपयोग व्यक्तिगत नाम, कंपनी या उत्पाद के नामांकन में किया जा सकता है. यह आपके व्यक्तिगत या पेशेवर उद्यम को सत्यापित करता है और आपके बिजनेस को कानूनी पहचान प्रदान करता है.

बिजनेस नाम की मार्केटिंग और ब्रांडिंग-

“नामांक 5” का उपयोग अपने उत्पादों और सेवाओं की ब्रांडिंग और मार्केटिंग में किया जा सकता है. यह आपके उत्पादों या सेवाओं को विशेषता और पहचान देता है और उन्हें बाजार में प्रसारित करता है.

वेबसाइट और ऑनलाइन पहचान-

“नामांक 5” का उपयोग आपकी वेबसाइट या ऑनलाइन पहचान के लिए किया जा सकता है. यह आपकी वेबसाइट का डोमेन नाम और सोशल मीडिया प्रोफाइल्स के लिए उपयुक्त हो सकता है.

डॉक्यूमेंट्स-

“नामांक 5” का उपयोग व्यावसायिक पत्रों, डॉक्यूमेंट्स, और आधिकारिक कागजात के लिए किया जा सकता है. यह व्यावसायिक संचालन की पहचान और स्वीकृति में मदद कर सकता है.

बिजनेस नाम की बाजार में पहचान-

“नामांक 5” का उपयोग आपके बिजनेस को बाजार में पहचान और मुख्य रूप से अन्य व्यवसायों से अलग करने में किया जा सकता है. यह आपको आपके उत्पादों या सेवाओं के लिए एक विशिष्ट ब्रांड बनाता है.

ऑनलाइन बिजनेस नाम कैसे खोज सकते हैं?

इंटरनेट की दुनिया में कई वेबसाइट्स है जो एक यूनिक बिजनेस नाम खोजने (free business name generator) और बनाने (hindi business name maker) में आपकी सहायता कर सकती हैं. इनमें से कुछ का विवरण नीचे दिया गया है-

https://businessnamegenerator.com/
https://businessnamemaker.com/
https://namelix.com/

अंत में-

“आवश्यकता ही अविष्कार की जननी है.” आप सभी इस सकारात्मक विचार से भली भांति परिचित ही होंगे. यदि आप भविष्य में एक सफल कारोबारी/उद्यमी/व्यवसायीय अथवा व्यापारी बनना चाहते हैं तो आपको इस विचार का व्यवसायिक और मनोवैज्ञानिक दृष्टी से जरूर आंकलन करना चाहिए, हो सकता है कि आपको एक कोई नया business idea सूझ जाए जो आपके भविष्य को एक नई दिशा प्रदान कर दे.

आशा है इस लेख “कैसे करें अपने बिजनेस नाम के चुनाव पर विचार” से आपको एक सफल व्यवसायीय बनाने की अहम जानकारी जरूर मिली होगी, साथ ही यदि कुछ छूट गया हो या कुछ कहना या पूछना चाहते हों तो कृपया comment box में लिखें….

पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे अपने साथियों व जरूरतमंद लोगों के साथ share करना बिल्कुल न भूलें, आपका एक share शायद किसी को नई दिशा दिखा दे……

“शुभकामनाएं आपके सफल व्यवसायिक/कारोबारी भविष्य के लिए”

धन्यवाद!

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular